Morning Mantra: सुबह उठकर करें इन मंत्रों का जाप, जीवन में आएगी सकारात्मकता, दिन की होगी अच्छी शुरुआत

Morning Prayer Mantra in Hindi: दिन की शुरुआत अगर अच्छी हो तो सारा दिन अच्छा रहता है ,इसी लिए हमारे धर्म ग्रंथों में सुबह जल्दी उठने को कहा गया है। जल्दी सुबह आपके तन मन दोनों के लिए बेहतर होती है।  

Morning Mantra For Good luck: कहते हैं दिन की शुरुआत जितनी अच्छी होती है आपका पूरा दिन भी उतना ही अच्छा जाता है. ऐसा आप आजमा के भी देख सकते हैं. कहते हैं अगर सुबह सवेरे उठकर इन मंत्रों (morning puja mantra in hindi) का उच्चारण किया जाए, तो आपके लिए काफी फायदेमंद रहता है. हमारे शास्त्रों में आपके दिन को शुभ बनाने के लिए कई उपाय बताए गए हैं, जिनमें से एक मंत्रों (Morning Mantra) का उच्चारण है. आंख खुलते ही अगर इन मंत्रों का उच्चारण सही से किया जाए, तो न सिर्फ आपका दिन शुभ होगा. बल्कि जीवन में सभी समस्याओं का अंत भी हो जाएगा.

इन (Morning Mantra) मंत्रों के उच्चारण से न सिर्फ आपका भाग्य साथ देने लगेगा. साथ ही आपकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा. तो आइए जानते हैं सवेरे आंख खुलते ही किन मंत्रों का उच्चारण किया जाना चाहिए. दिनचर्या का आरंभ नींद खुलने के तत्काल बाद शुरू हो जाता है। दिन की शुरुआत का पहला कदम हैकर दर्शनम् अर्थात हथेलियों को देखना और Good Morning Mantra का उच्चारण करना। 

तो आइये जानते हैं मॉर्निंग मंत्र (daily morning mantra in hindi) के बारे में 

कराग्रे वसते लक्ष्मी: करमध्ये सरस्वती। करमूले स्थितो ब्रह्मा प्रभाते करदर्शनम्..।।

अर्थात– (मेरे) हाथ के अग्रभाग में लक्ष्मी का, मध्य में सरस्वती का और मूल भाग में भगवान विष्णु का निवास है।

Morning Wake up Mantra in hindi : सुबह सूर्योदय के समय इस मन्त्र का जाप अति शुभ होता है, दोनों हाथों को जोड़ आंखें बंद करके अपने इष्ट का ध्यान करते हुए इस मन्त्र को पढ़ना चाहिए। इस शक्तिशाली मंत्र से आपका दिन और भाग्य दोनों का जागरण होता है। आपकी हथेलियों में देवताओं का निवास है, हथेली के सबसे आगे वाले भाग में देवी लक्ष्मी, मध्य वाले भाग में देवी सरस्वती का वास होता है और मूल भाग में परमब्राह्मा गोविंद का वास होता है. हथेलियों के दर्शन के समय मन में संकल्प लें कि मैं परिश्रम कर दरिद्रता और अज्ञान को दूर करूंगा और अपना व जगत का कल्याण करूंगा।

समुद्रवसने देवि पर्वतस्तनमंडले। विष्णुपत्नि नमस्तुभ्यं पादस्पर्श क्षमस्व मे.।।

हे पृथ्वीदेवी ! आप समुद्र रूपी वस्त्रो को धारण करने वाली हैं, पर्वतरूपी स्तनो से सुशोभित है तथा भगवान विष्णु कि आप पत्नी हैं, आपको नमस्कार है, मेरे द्वारा होने वाले पादस्पर्श हेतु मुझे क्षमा करें | शय्या से भूमि पर पैर रखने से पहले माता पृथ्वी से क्षमा वन्दना करे | बिस्तर से उठने के बाद जमीन पर पैर रखने से पहले पृथ्वी माता के मंत्र का जाप करना चाहिए.

गंगे यमुने चैव गोदावरि सरस्वति। नर्मदे सिन्धु कावेरि जल स्मिन्सन्निधिं कुरु..’।।

अर्थात् हे गंगा, यमुना, गोदावरी, सरस्वती, नर्मदा, सिंधु, कावेरी नदियों ! (मेरे स्नान करने के) इस जल में (आप सभी) पधारिये । एक अन्य श्लोक भी बहुधा स्नान करते समय बोला जाता है, जो इस प्रकार है ।इस मंत्र का जाप सुबह स्नान के समय करना चाहिए.

गंगा सिंधु सरस्वती यमुना गोदावरी नर्मदा। कावेरी सरयू महेन्द्रतनया चर्मण्यवती वेदिका।

क्षिप्रा वेत्रवती महासुरनदी ख्याता जया गण्डकी। पूर्णाः पूर्णजलैः समुद्रसहिताः कुर्वन्तु मे मंगलम् ।।

इस श्लोक का अर्थ भी यही है कि उपर्युक्त सभी जल से परिपूर्ण नदियां, समुद्र सहित मेरा कल्याण करें । गंगा की महिमा तो वर्णनातीत है । उसे प्रणाम कर अपना जीवन सार्थक करने की परंपरा अति प्राचीन है ।

सर्वमंगल मांगल्यै शिव सवार्थ साधिक। शरण्ये त्रयम्बके गौरि नरायणि नमोस्तु ते।।

सब प्रकार के शुभ करने वाली मंगलमयी माता आप कल्याणकारी एवं सब मनोरथों को पूरा करने वाली हो (अर्थात सदबुद्धि देने वाली हो)

Morning Mantra for Success in Hindi: हे माँ गौरी (जिनका गौर वर्ण है), आप शरण ग्रहण करने योग्य एवम त्रिकालदर्शी अर्थात वर्तमान भूत एवम भविष्य को प्रत्यक्ष देखने वाली हो। हे नारायणी (जो सब में व्याप्त हैं) आपको नमस्कार है। हर प्रकार की शुभ करने वाली और सभी मनोकामनाएं पूर्ण करने वाली (अर्थात अच्छी बुद्धि देने वाली) आप एक दयालु माता भव। हे माँ गौरी (जिनकी गोरी त्वचा है), आप शरण ले सकती हैं और त्रिकालदर्शी हैं, अर्थात् जो वर्तमान, भूत और भविष्य को प्रत्यक्ष रूप से देखती हैं, हे नारायणी (जो सब कुछ समेटे हुए हैं) आपको नमस्कार।

ये मंत्र मां भगवती नारणयी के लिए है. इस मंत्र में कहा जा रहा है कि आप ही सब मंगल देने वाली हो. कल्याण दायिनी शिवा हो. आप ही सब पुरुषों को सिद्ध करने वाली, तीन नेत्रों वाली एंव गौरी हो. तुम्हे नमस्कार, तुम्हे नमस्कार, तुम्हे नमस्कार

गं ऋणहर्तायै नमः अथवा ओम छिन्दी छिन्दी वरैण्यम् स्वाहा।

Morning Prayer Mantra in Hindi: अर्थात : देवत्व स्वरूप करुणा की प्रतिमूर्ति, प्रतिक्षण अभयदान देने वाले, श्रेष्ट वर प्रदान करने वाले, सबके विघ्नों को हरने वाले विघ्नविनाशक गणेश जी को मैं सह्रदय प्रणाम समर्पित करता हूँ।  शास्त्रों व् पुराणों के अनुसार इस मन्त्र का जाप कर्ज से मुक्ति हेतु किया जाता है।ये कर्ज से मुक्ति कराने वाला मंत्र है. इस मंत्र के जरिए भगवान गणेश को नमस्तार किया जाता है. यह ऋषहर्ता मंत्र है. इसके प्रतिदिन जाप से भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं और व्यक्ति का कर्ज धीरेधीरे कम होता जाता है. इतना ही नहीं, मंत्र से धीरेधीरे इतना फायदा होता है कि बाद में आपको कर्ज की नौबत ही नहीं आती। किसी भी तरह के कर्ज से मुक्ति प्राप्त हेतु इस मन्त्र का याजक को नित जाप करना चाहिए।

आप रोज़ाना इन good morning mantra in hindi और morning wake up mantra in hindi का प्रयोग करके जीवन को सफल और सार्थक बना सकते हैं , इन morning mantra for success in hindi का लगातार प्रयोग से आपको धीरे धीरे असर होता दिखाई देगा। तो इस्तेमाल करिये इन morning mantra quotes in hindi और daily morning mantra in hindi का और देखिये आपकी ज़िन्दगी कैसे बदलती है।

Sudhbudh.com

इस वेबसाइट में ज्ञान का खजाना है जो अधिकांश ज्ञान और जानकारी प्रदान करता है जो किसी व्यक्ति के लिए खुद को सही ढंग से समझने और उनके आसपास की दुनिया को समझने के लिए महत्वपूर्ण है। जीवन के बारे में आपको जो कुछ भी जानने की जरूरत है वह इस वेबसाइट में है, लगभग सब कुछ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *