Essay on Summer Season in Hindi । गर्मी के मौसम पर निबंध हिंदी में

Essay on Summer Season in Hindi

Essay on Summer Season in Hindi । गर्मी के मौसम निबंध हिंदी में

Essay on Summer Season in Hindi
Essay on Summer Season in Hindi

गर्मी के मौसम पर निबंध हिंदी में । Essay on Summer Season in Hindi 

Hindi Essay: आज हम Essay on Summer Season in Hindi | गर्मी के मौसम निबंध हिंदी में पढ़ेंगे। गर्मी के मौसम पर लिखा यह निबंध (Summer Season Nibandh) बच्चों (kids) जो class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 के विद्यार्थियों के लिए फायदेमंद हो सकता है. इसे speech, Paragraph और Nibandh के रूप में भी प्रस्तुत कर सकते हैं। आओ पढ़ते हैं गर्मी के मौसम पर निबंध Essay on Summer Season in Hindi is Important for all classes 3rd to 12th. 

गर्मी के मौसम पर निबंध (Essay on Summer Season in Hindi, Summer Season Par Nibandh Hindi mein)

भूमिका- भारत में, छह मौसम – गर्मी, शरद ऋतु, मानसून, सर्दी, शरद ऋतु और वसंत – वर्ष के दौरान अपना चक्कर काट ती रहती हैं। हर ऋतु अपने समय से आती है। वह अपना रंग दिखाती है और चली जाती है। जब लोग एक मौसम से थक जाते हैं, तो वे दूसरे मौसम की प्रतीक्षा करते हैं। हर मौसम की अपनी विशेषताएं होती हैं। जहां कई मौसम बहुत परेशान करते हैं, वहीं वह मौसम शांति भी लाता है। इन ऋतु में जहां गर्मी का मौसम लोगों को परेशान करता है, वहीं यह फसलों को पकने में भी मदद करता है। रोग फैलाने वाले मच्छरों, मक्खियों और अन्य कीटों को खत्म करता है।

ग्रीष्म ऋतु की शुरुआत- ग्रीष्म ऋतु वैसे तो विशाख माह के उदय होने पर आती  है। लेकिन कभी-कभी यह मार्च के दिनों में भी शुरू हो जाता है। जेठ-अहार के बाकी महीने गर्मी के महीने माने जाते हैं। इन दिनों इतनी गर्मी पड़ती है कि नाक में जान आ जाती है। इंसान, जानवर सिर छुपाने के लिए जगह तलाशने लगते हैं गर्मी से बचने के लिए लोग घरों के अंदर छिपे रहते हैं। उस समय मुझे पंजाबी अखान, जेठ हाड़ कूखी, सावन भादों रुखी याद आती है। दूसरे शब्दों में, चिलचिलाती गर्मी से बचने के लिए लोग इन दिनों घर के अंदर जाते हैं और गर्मियों में बारिश की नमी के कारण बारिश के नीचे बैठना पसंद करते हैं।

गर्मी के मौसम के फायदे- गर्मी का मौसम जहां परेशान करने वाला होता है वहीं इसके कई फायदे भी होते हैं। यह ऋतु हमारे कई कार्यों को रेखांकित करता है। फसल गर्म होने पर पक जाती है। अधिक गर्मी के साथ, वर्षा ऋतु के आगमन के लिए जमीन तैयार हो जाती है पृथ्वी पर एक लाभकारी परिवर्तन आता है। बर्फ पिघलने से खेतों के लिए अधिक पानी मिलता है। पहाड़ों और ठंडी जगहों पर जाने मौका मिलता है। जब अँधेरी आती है तो वह अपने साथ वातावरण की सारी निष्पक्षता और बीमारी को साथ लेकर जाती है। सच तो यह है कि कुदरत की फैक्ट्री में कुछ भी ऐसा नहीं है जिसकी जरूरत ना हो। 

कई प्रकार के फलों का मिश्रण- गर्मी के मौसम में फलों का राजा आम खिलता है। बहुत से आमों के रस होते हैं, जिन्हें खाने से मनुष्य को सुख मिलता है। इसके अलावा खरबूजे,तरबूज ,जामुन , आड़ू, खुमानिया, आलुचे, आलू-बुखार अपनी लड़ाई देते हैं।

गरीबों के लिए वरदान- गरीबों के लिए यह मौसम वरदान है। जहां जाड़े के मौसम में गरीबों को सर्दी से बचने के लिए महंगे महंगे कपड़े खरीदने पड़ते हैं, वहीं इस मौसम में चंद कपड़ों से ही काम चल जाता है। अन्य गर्मी के मौसम के कपड़े भी बहुत महंगे नहीं हैं। 

प्रकृति का आनंद लेना– गर्मी के मौसम में मनुष्य प्रकृति का आनंद लेता है सर्दियों में तो सर्दी से ग्रसित व्यक्ति जल्दी ही अंदर चला जाता है, जबकि गर्मी में व्यक्ति छत पर या खुले में जाता है वह मैदान में लेटे हुए चाँद और तारों को बहुतायत में देखता है। इनके दर्शन मनुष्य को शांति और शीतलता प्रदान करते हैं

गर्मी के मौसम के नुकसान- जहां गर्मी के मौसम के अपने फायदे हैं, वहीं कुछ नुकसान भी हैं। जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती है, अंदर और बाहर गर्म होती जाती है। दीवारें और पृथ्वी आग की तरह गर्म होने लगती हैं। सब कुछ कर्कश की तरह हो जाता है जिसमें सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है। बाहर जाने से हमारा शरीर जल जाता है, ऐसी गर्मी में काम करना मुश्किल हो जाता है। बार-बार प्यास लगती है। भूख कम हो जाती है जिससे शारीरिक कमजोरी हो जाती है। न खाना अच्छा लगता है, न पहनना। कहीं नहीं आने-जाने से उनका सामंजस्य कम हो जाता है। शरीर पर बड़ी-बड़ी फुंसी, पित्त निकल जाती है। हवा और तूफान के आने से हर तरफ मिट्टी धूल-धुल हो जाती है। मुँह-सिर मिट्टी से भर जाते हैं। पेड़ उखड़ने से रास्ते बंद हो गए हैं। बिजली व्यवस्था भी खराब हो जाती है। बिजली कटौती बढ़ जाती है। ऐसे में इस मौसम में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

सारांश- हर चीज के दो पहलू होते हैं। जहां किसी चीज के फायदे होते हैं, वहां कुछ नुकसान भी होते हैं। मनुष्य को इन्हें प्रकृति का वरदान समझना चाहिए। मनुष्य को अधीर नहीं होना चाहिए और प्रकृति के साथ सद्भाव में रहना सीखना चाहिए। 

हमें उम्मीद है आपको इस पोस्ट में गर्मी के मौसम पर निबंध (Essay on Summer Season in Hindi) हिन्दी में अच्छा लगा होगा। स्कूल के विद्यार्थी जो गर्मी के मौसम पर निबंध की खोज में हैं वे इस ग्रीष्म ऋतु पर सुंदर निबंध की मदद ले सकते हैं। यह ग्रीष्म ऋतु पर निबंध Essay on Summer Season in Hindi Class 3, 4, 5, 6 , 7, 8, 9, 10 मे पूछा जा सकता है।

Lohri Essay in Hindi

Sudhbudh.com

इस वेबसाइट में ज्ञान का खजाना है जो अधिकांश ज्ञान और जानकारी प्रदान करता है जो किसी व्यक्ति के लिए खुद को सही ढंग से समझने और उनके आसपास की दुनिया को समझने के लिए महत्वपूर्ण है। जीवन के बारे में आपको जो कुछ भी जानने की जरूरत है वह इस वेबसाइट में है, लगभग सब कुछ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 Amazing Health Benefits of Ginger क्या आप जानते हैं सुबह जल्दी उठने के 7 आश्चर्यजनक फायदे सबके दिलों पर करना चाहते हैं राज ! अपनी आदतों में शामिल कर लें बातें Suresh Raina Retirement PM Modi ने पाकिस्तान के खिलाफ जीत के लिए टीम इंडिया की सराहना की