RSS Prarthna: आरएसएस (RSS) प्रार्थना हिंदी अर्थ सहित

RSS की प्रार्थना का हिन्दी में अनुवाद … पढ़ो और सोचिये कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की भारत माता के प्रति भावना क्या है?

Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) Prarthana

Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) Prarthana Arth

संघ प्रार्थना (RSS Prayer) यानि आरएसएस की प्रार्थना (RSS Prarthana) रोज़ाना संघ की शाखा में गाई जाती है. संघ प्रार्थना संस्कृत में है सभी स्वयंसेवक रोज़ाना इसका उच्चारण करते हैं लेकिन सभी को हिंदी में अर्थ शायद न पता हो। यहां पर RSS Prarthana ‘Namaste Sada Vatsale Matrubhoome’ का पूरा अर्थ और क्या है. संघ प्रार्थना (RSS Prarthana Lyrics) के साथ साथ हमने इसके अर्थ भी लिखे हैं. 

आइये पढ़ें और जाने आरएसएस की प्रार्थना – RSS Prarthana in Hindi के अर्थ 

RSS ki Prarthana का हिंदी में अनुवाद / अर्थ


नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे, त्वया हिन्दुभूमे सुखं वर्धितोsहम्।

हे प्यार करने वाली मातृभूमि! मैं तुझे सदा (सदैव) नमस्कार करता हूँ। तूने मेरा सुख से पालन-पोषण किया है। 🚩

महामङ्गले पुण्यभूमे त्वदर्थे, पतत्वेष कायो नमस्ते नमस्ते।। १।। 

हे महामंगलमयी पुण्यभूमि! तेरे ही कार्य में मेरा यह शरीर अर्पण हो। मैं तुझे बारम्बार नमस्कार करता हूँ। 🚩

प्रभो शक्ति मन्हिन्दुराष्ट्राङ्गभूता, इमे सादरं त्वाम नमामो वयम् त्वदीयाय कार्याय बध्दा कटीयं, शुभामाशिषम देहि तत्पूर्तये। 

हे सर्वशक्तिशाली परमेश्वर! हम हिन्दूराष्ट्र के सुपुत्र तुझे आदर सहित प्रणाम करते है। तेरे ही कार्य के लिए हमने अपनी कमर कसी है। उसकी पूर्ति के लिए हमें अपना शुभाशीर्वाद दे। 🚩

अजय्यां च विश्वस्य देहीश शक्तिम, सुशीलं जगद्येन नम्रं भवेत्, श्रुतं चैव यत्कण्टकाकीर्ण मार्गं, स्वयं स्वीकृतं नः सुगं कारयेत्।। २।। 

हे प्रभु! हमें ऐसी शक्ति दे, जिसे विश्व में कभी कोई चुनौती न दे सके, ऐसा शुद्ध चारित्र्य दे जिसके समक्ष सम्पूर्ण विश्व नतमस्तक हो जाये। ऐसा ज्ञान दे कि स्वयं के द्वारा स्वीकृत किया गया यह कंटकाकीर्ण मार्ग सुगम हो जाये। 🚩

समुत्कर्षनिःश्रेयसस्यैकमुग्रं, परं साधनं नाम वीरव्रतम्तदन्तः स्फुरत्वक्षया ध्येयनिष्ठा, हृदन्तः प्रजागर्तु तीव्राsनिशम्।

उग्र वीरव्रती की भावना हम में उत्स्फूर्त होती रहे, जो उच्चतम आध्यात्मिक सुख एवं महानतम ऐहिक समृद्धि प्राप्त करने का एकमेव श्रेष्ठतम साधन है। तीव्र एवं अखंड ध्येयनिष्ठा हमारे अंतःकरणों में सदैव जागती रहे। 🚩

विजेत्री च नः संहता कार्यशक्तिर्, विधायास्य धर्मस्य संरक्षणम्। परं वैभवं नेतुमेतत् स्वराष्ट्रं, समर्था भवत्वाशिषा ते भृशम्।। ३।। ।। भारत माता की जय।।

हे माँ तेरी कृपा से हमारी यह विजयशालिनी संघठित कार्यशक्ति हमारे धर्म का सरंक्षण कर इस राष्ट्र को वैभव के उच्चतम शिखर पर पहुँचाने में समर्थ हो।

भारत माता की जय।..

RSS Prarthana में आखिर में भारत माता की जय का कहा जाता है. जो कुछ भी हम करें उसमे भारत माता की ही जय जय कार हो.


RSS Prarthana in Hindi संघ प्रार्थना (RSS Prarthana Lyrics) के बारे में अतरिक्त जानकारी 

Namaste Sada Vatsale (Sanskrit: नमस्ते सदा वत्सले) Rashtriya Swayamsevak Sangh’s की प्रार्थना (prayer) है. ये Sangh Prarthana पहली बार publicsangh-prarthna-sudhbudh ly RSS Pracharak Yadav Rao Joshi जी ने May 18, 1940 in Sangh Shiksha Varg जो कि Nagpur में आयोजित था वहां गाई थी .संघ प्रार्थना Sanskrit में है सिर्फ अंतिम लाइन हिंदी में है.

Rss Sangh Prarthana Download Pdf  Download

Read This Too: Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS)-Prarthana in Hindi, Punjabi, Telugu, Kannada, Gujarati, Malayalam, English

संघ के सभी कार्यकर्मों में Sangh Prarthna आवश्यक होती है. उम्मीद है आपको राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रार्थना अर्थ हिंदी में | Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS)-Prarthana Meaning in Hindi की जानकारी अच्छी लगी होगी. 

#RashtriyaSwayamsevakSangh(RSS)Prarthana 

Sudhbudh.com

इस वेबसाइट में ज्ञान का खजाना है जो अधिकांश ज्ञान और जानकारी प्रदान करता है जो किसी व्यक्ति के लिए खुद को सही ढंग से समझने और उनके आसपास की दुनिया को समझने के लिए महत्वपूर्ण है। जीवन के बारे में आपको जो कुछ भी जानने की जरूरत है वह इस वेबसाइट में है, लगभग सब कुछ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *